content='width=device-width, initial-scale=1' /> मन के भाव - हिंदी काव्य संकलन: बदलाव की आहट

अगस्त 22, 2021

बदलाव की आहट

हवाओं का रुख कुछ बदला-बदला सा है,


अमावस का चाँद भी उजला-उजला सा है,


संगमरमर की चट्टानों ने भी आज भरी है साँस,


दुनिया बनाने वाले का मिज़ाज कुछ बदला-बदला सा है ||

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें