content='width=device-width, initial-scale=1' /> मन के भाव - हिंदी काव्य संकलन Mann ke Bhaav : Hindi Kavita: किस्मत

मार्च 06, 2021

किस्मत

किस्मत की लकीरों में बंधकर,


खुद को तू ना तड़पा,


जो होना है वो तो होएगा,


जो कर सकता है करके दिखा |

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें