content='width=device-width, initial-scale=1' /> मन के भाव - हिंदी काव्य संकलन: टूटा दिल

फ़रवरी 18, 2021

टूटा दिल

गलती मेरी थी जो मैंने तुझसे कुछ उम्मीद की,


उसको पूरा करने की तुझसे मैंने ताकीद की ||

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें